भारत सरकार ने की 47 Chinese Apps बैन, PUBG Ban In India ?

Share Our Post On

 

भारत सरकार ने पिछले महीने TikTok समेत 59 Chinese Apps को भारत में बैन कर दिया था. चीन को एक और बड़ा झटका देते हुए भारत ने 47 नए Chinese Apps को बैन कर दिया है. अब तक मिली खबरों के अनुसार ये Apps पिछले महीने बैन किए गए 59 Chinese Apps के क्लोन के तौर पर काम कर रहे थे. इन ऐप्स को बैन करने का फैसला आईटी मिनिस्ट्री की तरफ से लिया गया है. बैन किए गए 47 App में किन-किन ऐप्स को शामिल किया गया है इसकी लिस्ट जल्द ही जारी की जाएगी. हालांकि भारत सरकार द्वारा इस बारे में कोई आधिकारिक बयान भी ज़ारी नहीं किया गया है.

 

275 से ज्यादा Chinese Apps हो सकती है बैन :

The Economic Times की रिपोर्ट के अनुसार, सरकार की नज़र 275 चीनी ऐप्स पर है. 47 Apps को बैन करने के अलावा सरकार की नजर और दूसरी App पर भी है. इन App की अभी जांच हो रही है. इनमें Xiaomi के 14 App के अलावा इन ऐप्स की लिस्ट में कई पॉपुलर Apps और Games भी शामिल हैं. जिसमे PUBG, Resso और ULike जैसे कई और बड़ी Apps भी शामिल हो सकते हैं.

 

DATA की Security के लिए लिया गया फैसला :

भारत-चीन विवाद के बीच चाइनीज Company की App पर भारत सरकार की कड़ी नजर है. Government कोशिश कर रही है कि किसी भी हाल में इन Chinese Apps के जरिए देश की सुरक्षा और भारतीय यूजर के डेटा की सिक्यॉरिटी या Privacy को नुकसान न पहुंचे. रिपोर्ट के मुताबिक, जिन Apps को Review किया जा रहा है उन पर चीन के साथ भारतीय यूज़र्स का डेटा साझा करने का आरोप लगा है.

 

 

Read Also this Article :

ऑनलाइन फ्रॉड से कैसे बचे ?

 

Mobile phone facts

 

अभी इस पर Government जांच कर रही है और इस जांच के आधार पर ही Indian Government अगली List जारी करेगी. अब माना जा रहा है कि जुलाई के अंत तक अन्य बैन Apps की भी घोषणा कर दी जाएगी.

 

पहले भी लग चुका है 59 Apps पर बैन :

इससे पहले सरकार ने पिछले महीने TikTok सहित 58 दूसरे Chinese Apps को बैन किया था. इसमें कैम स्कैनर, शेयरइट और UC ब्राउजर जैसे कई बड़े ऐप भी शामिल थे. Chinese Apps पर बैन लगाने की वजह सरकार ने भारत की अंखंडता और सुरक्षा के लिए जरूरी बताया था. भारत में बैन होने के बाद इन Chinese Apps का बड़ा नुकशान हुआ है.


Share Our Post On

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *